Wednesday, 23 March 2016

रंग दे बसंती चोला

भर दे
मन की पिचकारी
भारत माँ
दुलारी,
तीन रंग में
होती
होली,
विश्व गुरु
बनकर लहराये
तिरंगा - हिंदुस्तान
देश के लिए
तन मन धन
सब
हो जाये
कुर्बान
----- निरुपमा मिश्रा

Post a Comment